सम्पादकीय मुख्य समाचार खेल समाचार क्षेत्रीय  समाज विज्ञापन दें अख़बार  डाऊनलोड करें
ऑनलाइन पढ़ें व्यापार  अंतरराष्ट्रीय  राजनीति कही-सुनी ब्यंग राशिफल
लाइफस्टाइल शिक्षा खाना - खजाना हिंदुस्तान की सैर फ़िल्मी रंग बताते आपका स्वभाव
| DAINIK INDIA DARPAN LIVE NEWS |MOTHER INDIA MONTHLY HINDI MAGAZINE | GIL ONLINE LIVE NEWS | DID TV POLITICAL, CRIME ,SOCIAL, ENTERTAINMENT VIDEOS| ... 
  • दिनांक
  • महिना
  • वर्ष

छपरा मिड-डेम मील हादसा : गिरफ्तार प्रिंसिपल ने की सीबीआई जांच की मांग
बिहार के सारण जिले के एक सरकारी विद्यालय में मध्याह्न भोजन खाने के बाद 23 बच्चों की मौत मामले की मुख्य आरोपी विद्यालय की प्रधान शिक्षिका मीना देवी को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के पूर्व उन्होंने पूरे मामले में खुद को निर्दोष बताते हुए मामले की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की। सारण जिले के पुलिस अधीक्षक सुजीत कुमार ने गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी मीना देवी छपरा आने वाली हैं। पुलिस और विशेष जांच दल की संयुक्त कार्रवाई में मीना देवी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। उनकी गिरफ्तारी के बाद इस मामले से पर्दा उठ जाने की उम्मीद है। गिरफ्तारी के पूर्व मीना देवी ने पत्रकारों से कहा कि उन्हें बेवजह इस मामले में घसीटा जा रहा है। वह पूरी तरह निर्दोष हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें बिहार पुलिस पर पूरा विश्वास है, लेकिन मामले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि उनका और न ही उनके पति का किसी राजनीतिक दल से कोई संबंध है और न ही उनके पति की किराने की दुकान है। घटना के बाद से फरार चल रही मीना देवी के गंडामन स्थित आवास पर बुधवार सुबह कुर्की जब्ती का इश्तहार चिपकाया गया था। पुलिस के अवेदन पर न्यायालय ने मंगलवार को इश्तहार जारी कर दिया था। गौरतलब है कि मामले की जांच कर रही विशेष जांच दल (एसआईटी) ने मंगलवार देर शाम प्रधान शिक्षिका के घर की गहन तलाशी ली थी। सूत्रों के अनुसार वहां से टीम के लोगों ने कई संदिग्ध चीजें जांच के लिए उठाई हैं। उल्लेखनीय है कि सारण व्यवहार न्यायालय के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पुलिस ने प्रधान शिक्षिका मीना देवी की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी करने की प्रार्थना की थी जिसे न्यायालय ने स्वीकार करते हुए सोमवार को वारंट जारी कर दिया था। धर्मसती गंडामन गांव स्थित नवसृजित प्राथमिक विद्यालय में 16 जुलाई को मध्याह्न भोजन खाने से 23 बच्चों की मौत हो गई, जबकि रसोइया और 24 बच्चे अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं। इस मामले की एक प्राथमिकी गंडामन गांव के अखिलानंद मिश्र ने मशरख थाना में दर्ज करवाई है जिसमें प्रधान शिक्षिका मीना देवी और अन्य को आरोपी बनाया गया है। घटना के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर प्रक्षेत्र के पुलिस उप-महानिरीक्षक (डीआईजी) विनोद कुमार और प्रमंडलीय आयुक्त शशिशेखर शर्मा ने अपनी जांच रिपोर्ट शुक्रवार को मुख्यमंत्री को सौंप दी। रिपोर्ट में प्रधान शिक्षिका पर आपराधिक लापरवाही बरतने का आरोप लगाया गया है। आरोप है कि उस दिन सब्जी बनाने के लिए आरोपी प्रधान शिक्षिका के पति अर्जुन राय की दुकान से ही तेल लाया गया था।



Share This -->

 


 





फोटो गैलरी                       More..
              

     

Video                                More..

https://www.youtube.com/watch?v=jzRWPYTTyac