सम्पादकीय मुख्य समाचार खेल समाचार क्षेत्रीय  समाज विज्ञापन दें अख़बार  डाऊनलोड करें
ऑनलाइन पढ़ें व्यापार  अंतरराष्ट्रीय  राजनीति कही-सुनी ब्यंग राशिफल
लाइफस्टाइल शिक्षा खाना - खजाना हिंदुस्तान की सैर फ़िल्मी रंग बताते आपका स्वभाव
| DAINIK INDIA DARPAN LIVE NEWS |MOTHER INDIA MONTHLY HINDI MAGAZINE | GIL ONLINE LIVE NEWS | DID TV POLITICAL, CRIME ,SOCIAL, ENTERTAINMENT VIDEOS| ... 
  • दिनांक
  • महिना
  • वर्ष

खाना - खजाना

चूरमे के लड्डू - Churme Ke Laddu
 चूरमे के लड्डू एक राजस्थानी मिठाई  है़। यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होते है और अगर यह लड्डू घर के बने हों तो इनका स्वाद ही अलग होता है। चलिये आज बनाएं चूरमे के लड्डू।
आवश्यक सामग्री:
गेहूँ का आटा - 400 ग्राम (4 कप)
सूजी - 100 ग्राम (1 कप)
देसी घी - 500 ग्राम (2.1/2 कप)
बूरा - 700 ग्राम
मावा - 250 ग्राम (एक कप)
काजू - 100 ग्राम (एक कप)
बादाम - 50 ग्राम (आधा कप)
किशमिश - 50 ग्राम (आधा कप)
इलाइची -15- 20 (छील कर पीस लें)
विधि:
आटे और सूजी को एक बर्तन में निकाल कर आधा कप घी डाल कर अच्छी तरह मिला लें। फिर दूध से सख्त सा आटा गूथ कर ढककर रख दें।
कढ़ाई में 250 ग्राम घी डाल कर गरम करें और गुथे हुए आटे में से उगलियों से एक रोटी के बराबर लोई निकाल कर हाथ से गोल करें और दोनों हथेलियों के बीच में रख कर, दबाकर चपटा कर लें। इस चपटी लोई को तलने के लिये घी में डाल दें। 3-4 लोइयाँ घी में एक साथ डाल कर धीमी आँच पर तब तक तलें जब तक यह ब्राउन ना हो जाए। सारी लोइयाँ इसी तरह तल कर प्लेट में निकाल कर ठंडी कर लें।
इन लोइयों को तोड़ कर इनके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और मिक्सर या फूड प्रोसेसर में डालकर बारीक पीस लें। यदि चूरमे में मोटे टुकड़े हों तो पिसे हुए चूरमे को छलनी में छान लें और ज्यादा मोटे टुकड़ों को मिक्सी में डाल कर दोबारा पीस लें।
अब बचा हुआ घी और जो घी आपके पास है सारा कढ़ाई में डाल दें और उस घी में सारा चूरमा डाल कर धीमी आग पर भूनलें। जब यह हल्का ब्राउन हो जाए और घी की खुशबू आने लगे तो इसे गैस पर से उतार लें और इसमें मावा भून कर मिला दें। इसके बाद इसमें बूरा, काजू, किशमिश, बादाम और इलाइची अच्छी तरह मिला लें। लड्डू का मिश्रण तैयार है।
अब इस मिश्रण से एक मुठ्ठी भर कर निकालें और दोनो हाथों से दबा कर उसे गोल कर लें। सभी लड्डू इसी तरह तैयार कर के प्लेट में रख लें और अपने परिवार के साथ बैठकर खाएं।
 
जानिए नारियल के गुण 
नारियल। धर्म के अलावा इस फल का प्रयोग सेहत और सौन्दर्य के लिए किया जाता है। नारियल का पानी, नारियल का तेल, नारियल का दूध,नारियल की गिरी, कच्चे नारियल की मलाई सभी सेहत के लिए बेहद उपयोगी है। नारियल का पानी शरीर को ठंडा करता है और शरीर का तापमान ठीक बनाए रखता है। नारियल पानी ऊर्जा का अच्छा वाहक है। वहीं ताजे नारियल की मलाई सेहत के साथ-साथ खूबसूरती के लिए भी बहुत फायदेमंद है। 
आजकल मार्केट में नारियल पानी से ज्यादा नारियल क्रश को पसंद किया जा रहा है। इसकी बड़ी वजह है कि इसमें नारियल पानी और मलाई दोनों के फायदे समाहित होते हैं और स्वाद में यह नारियल पानी से अलग और बेह‍तर होता है।
नारियल पानी में कई बार तैलीय स्वाद आने लगता है लेकिन नारियल क्रश अलग ढंग से तैयार किया जाता है। इसमें नारियल की मलाई और पानी को नींबू के रस, शकर व बर्फ के साथ मिक्सर में मिला कर चलाया जाता है। 
इसमें विटामिन ए, बी, सी, प्रोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, सोडियम एवं लौह तत्व भरपूर होता है। यह सभी तत्व शरीर के संपूर्ण विकास हेतु अत्यंत लाभदायक माने जाते हैं। नारियल क्रश रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है। शरीर में मौजूद जहरीले वायरस से भी लड़ाई करता है। 
1 नारियल क्रश यानी नारियल पानी में मलाई मिलाकर पीने से शरीर को शीतलता मिलती है। यह त्वचा संबंधी बीमारियों में काफी फायदेमंद है। नारियल के क्रश में खीरे का रस मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे के दाग मिट जाते हैं। चेहरा सुंदर एवं चमकदार हो जाता है। 
2 - ताजे हरे कच्चे नारियल में 90 प्रतिशत पानी रहता है लेकिन इस नारियल की मलाई सबसे पौष्टिक अवस्था में होती है। नारियल क्रश पके हुए नारियल की मलाई से भी ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक होता है। इसमें खनिज पदार्थ की मात्रा अधिक होती है, जबकि फैट, शर्करा और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है। 
3- ताजे नारियल की 11 औंस मलाई में केवल 65 कैलोरी है पर फिर भी यह पोषकता से भरपूर होता है। नारियल क्रश कितनी ही मात्रा में लिया जाए पर यह आपको मोटापे से बचाता है और शरीर को आवश्यक पौष्टिकता प्रदान करता है।
4 - नारियल क्रश से शरीर की मैग्नीज की दैनिक आवश्यकता की पूर्ति हो जाती है। यह खनिज रक्त के थक्के हटाने में सहायक कारकों के निर्माण में मदद करता है। इसमें 15 प्रतिशत पोटैशियम होता है, जो मांसपेशियों, हड्डियों और पाचनतंत्र को सही रखने में मदद करता है। 
5 - तुरंत और तत्काल ऊर्जा के लिए नारियल क्रश बेहद उपयोगी है। किडनी के लिए आवश्यक खनिज मैग्नीशियम ताजे नारियल क्रश में मिलता है। 
6 नारियल क्रश बेहतरीन पोषण का सर्वश्रेष्ठ स्रोत होता है। यह शरीर के प्रतिरोधी तंत्र लेमेटरी रिस्पॉन्स को बेहतर बनाने में मदद करता है। 
7 नारियल क्रश में नींबू निचोड़कर पीने से शरीर में पानी की कमी की समस्या दूर होती है। यह पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है। 
8 नारियल क्रश आस्टियोपोरोसिस के खतरे से बचाता है। शरीर को तुरंत सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है। यह हड्डियों और दांतों को भी मजबूत बनाता है। 

 

 

कुरकुरे बेबी कार्न

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Golden Fried Baby Corn

बेबी कार्न - 200 ग्राम  (25 - 30)

नमक - आधा छोटी चम्मच (बेबी कार्न पर छिड़कने के लिये)

मैदा - आधा कप (60 ग्राम)

कार्न फ्लोर - एक टेबल स्पून

दही - 2 टेबल स्पून

हरी मिर्च - 2

अदरक - एक इंच लम्बा टुकड़ा

लाल मिर्च - एक चौथाई छोटी चम्मच से कम (यदि आप तीखा खाना पसन्द करते हैं)

नमक - स्वादानुसार ( आधा छोटी चम्मच)

खाना सोडा - 1 पिंच

तेल - बेबी कार्न कुरकुरे तलने के लिये

विधि - How to make Golden Fried Baby Corn

बेबी कार्न को धोइये और लम्बाई में आधा करते हुये 2 भागों में काट लीजिये.  कटे हुये बेबी कार्न में आधा छोटी चम्मच नमक छिड़क कर मिलाइये और 10 मिनिट के लिये रख दीजिये.

किसी बर्तन में मैदा और कार्न फ्लोर छान कर निकालिये. Crispy baby Corn

अदरक को छील कर धो लीजिये, हरी मिर्च के डंठल तोड़ कर धो लीजिये, दही, अदरक और हरी मिर्च का पीस कर पेस्ट बना लीजिये.

मैदा और कार्न फ्लोर में दही, अदरक, हरी मिर्च का पेस्ट डालिये और पानी की सहायता से गाड़ा(इडली के घोल जैसा) घोल तैयार कर लीजिये.  मैदा के घोल में नमक और खाना सोडा भी डाल कर मिला दीजिये और इस घोल को चमचे से खूब फैटिये.  बेबी कार्न कुरकुरे बनाने के लिये घोल तैयार है.

नमक लगे बेबी कार्न को साफ पानी से धो लीजिये और छलनी में रखिये या थाली में तिरछा करके रख दीजिये ताकि उनसे पानी निकल जाय.

कढ़ाई में तेल डाल कर गरम कीजिये, एक बेबी कार्न का टुकड़ा उठाइये, घोल में डाल कर लपेटिये और गरम तेल में डालिये (तेल गरम हो गया है या नहीं ये देखने के लिये आप गरम तेल में थोड़ा सा मैदा का घोल डालिये, तेल पर्याप्त गरम है तो मैदा का घोल तुरन्त फूल कर तेल के ऊपर तैरने लगेगा).  एक एक करके 4-5 टुकड़े घोल में डुबा कर तेल में डाल दीजिये.  थोड़ी ही देर में ये मैदा के कुरकुरे तेल में तैरते दिखाई देने लगेगे.  इन बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) को पलट पलट कर ब्राउन होने तक तलिये और निकाल कर किसी प्लेट पर नैपकिन पेपर बिछा कर उस पर रखिये.  सारे बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) इसी तरह तल कर तैयार कर लीजिये.

गरमा गरम बेबी कार्न कुरकुरे (Golden Fried Baby Corn) टमाटर सास, हरे धनिये की चटनी या  टमाटर की चटनी के साथ परोसिये और खाइये.

चार सदस्यों के लिये |

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------

ब्रेड का हलवा

ब्रेड का हलवा बनाने के लिये आप सूखी ब्रेड का चूरे से ब्रेड का हलवा बना सकते हैं. ब्रेड के छोटे छोटे टुकडे करके इसे घी में तल कर भी ब्रेड का हलवा बना सकते है लेकिन ब्रेड के छोटे छोटे टुकडों को कड़ाही में भूनकर हलवा बनाना अधिक सुविधा जनक लगता है.

आइये ब्रेड का हलवा बनाना शुरू करते हैं.

आवश्यक सामग्री -

  • ब्रेड स्लाइस - 10
  • दूध - 600 ग्राम (3 कप)
  • घी -  आधा कप
  • चीनी -100 - 150 ग्राम ( 1/2 - 3/4 कप)
  • काजू - 12 -14 (छोटे छोटे काट लीजिये)
  • बादाम 8-10 (छोटे छोटे काट लीजिये)
  • इलाइची - 6-7 (इलाइची छील कर कूट लीजिये)

विधि - 

आटे या मैदा किसी भी तरह की ब्रेड हलवा के लिये ली जा सकती हैं. यदि आप चाहें तो मल्टीग्रेन ब्रेड भी ले सकते है. हर तरह के ब्रेड के हलवा (Bread Halwa) का अपना अलग स्वाद होता है.भुने हुये ब्रेड के टुकड़े में दूध और चीनी डालिये और लगातार चलाते हुये हलवा को पकाइये, चमचे से दबा कर ब्रेड के टुकड़ों को तोड़ दीजिये, 2 टेबल स्पून घी डालकर हलवे को चिकना होने तक पकाइये.  थोड़े से काजू बचा कर हलवा में सारे कतरे हुये काजू, बादाम और इलाइची डालकर मिला दीजिये.

ब्रेड का हलवा (Bread Halwa) तैयार है. ब्रेड के हलवा को प्याले में निकालिये, हलवा के ऊपर पिघला हुआ घी और काजू डालकर सजाइये. गरमा गरम ब्रेड का हलवा (Bread Halwa) परोसिये और खाइये.





फोटो गैलरी                       More..
     

     

Video                                More..

https://www.youtube.com/watch?v=jzRWPYTTyac