सम्पादकीय मुख्य समाचार खेल समाचार क्षेत्रीय  समाज विज्ञापन दें अख़बार  डाऊनलोड करें
ऑनलाइन पढ़ें व्यापार  अंतरराष्ट्रीय  राजनीति कही-सुनी ब्यंग राशिफल
लाइफस्टाइल शिक्षा खाना - खजाना हिंदुस्तान की सैर फ़िल्मी
| DAINIK INDIA DARPAN LIVE NEWS |MOTHER INDIA MONTHLY HINDI MAGAZINE | GIL ONLINE LIVE NEWS | DID TV POLITICAL, CRIME ,SOCIAL, ENTERTAINMENT VIDEOS| ... 
  • दिनांक
  • महिना
  • वर्ष
एशिया के खेल महाकुंभ में दिखेगा 13 हजार का दम ... ओलंपिक के बाद धरती के दूसरे सबसे बडे़ खेल आयोजन एशियाई खेलों के 17वें संस्करण का आयोजन दक्षिण कोरिया के शहर इंचियोन में शुक्रवार से है। 16 दिनों तक चलने वाले इस खेल महाकुंभ में 45 देशों के 13 हजार एथलीट एवं अधिकारी अपनी दमदार चुनौती पेश करेंगे। दक्षिण कोरिया तीसरी बार एशियाई खेलों का आयोजन कर रहा है। इससे पहले उसने 1986 में सोल में और फिर 2002 में बुसान में एशियाई खेलों का आयोजन किया था। चार अक्‍टूबर तक चलने वाले इन खेलों में 45 देशों के एथलीट कुल 36 खेलों की 439 स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक जीतने की जद्दोजहद से गुजरेंगे। एशियाई खेलों के आयोजन की तमाम तैयारियां पूरी हो चुकी है। शुक्रवार को उनके भव्य उद्घाटन समारोह के साथ 17वें एशियाई खेलों की शुरुआत है। दुनिया की खेल महाशक्ति बन चुका चीन एक बार फिर इन खेलों में सर्वाधिक पदक जीतने के लक्ष्य के साथ उतरेगा। इस अभियान में उसे मेजबान दक्षिण कोरिया तथा एशिया की पूर्व खेल महाशक्ति जापान से कडी़ चुनौती मिलेगी। चीन ने 2010 में अपनी मेजबानी में ग्वांग्झू में हुए एशियाई खेलों में 199 स्वर्ण सहित कुल 416 पदक जीते थे, जबकि दक्षिण कोरिया 76 स्वर्ण सहित 232 पदकों के साथ दूसरे और जापान 48 स्वर्ण सहित 216 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा था। आबादी में विश्व में चीन के बाद दूसरी सर्वाधिक जनसंख्या रखने वाला देश भारत 14 स्वर्ण 65 पदक लेकर छठे स्थान पर रहा था। चीन इन खेलों में 894 एथलीटों का सबसे बडा़ दल उतार रहा है, जबकि मेजबान दक्षिण कोरिया 833 एथलीटों के दल के साथ उतर रहा है। जापान का 718 सदस्यीय दल भी कडी़ चुनौती पेश करेगा। भारत इंचियोन में 516 एथलीटों सहित कुल 679 सदस्यीय दल उतार रहा है जो 28 खेलों में हिस्सा लेंगे। भारत ने पिछली बार 662 एथलीट उतारे थे और 35 खेलों में हिस्सा लिया था। थाइलैंड 518 सदस्यीय, हांगकांग 476, चीनी ताइपे 420, कजाकिस्तान 415, उज्बेकिस्तान 291, ईरान 282, मलेशिया 277, कुवैत 258, कतर 251, मंगोलिया 234 और सिंगापुर 230 सदस्यीय दल उतार रहा है। भारत के पडोसी देशों में पाकिस्तान 188, नेपाल 204, म्यांमार 64, बंगलादेश 136, श्रीलंका 80 और भूटान 16 सदस्यीय दल उतार रहा है। इन खेलों में सबसे छोटा दल व्रूनेई का होगा जिसके 11 एथलीट मैदान में उतरेंगे। दक्षिण कोरिया का पडो़सी देश उत्तर कोरिया 150 सदस्यीय दल के साथ इन खेलों में उतरेगा। इन खेलों की मशाल गत नौ अगस्त को दिल्ली के मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम में भी प्रज्ज्वलित की गयी थी। इंचियोन एशियाई खेलों की मशाल रिले ने उद्घाटन समारोह तक 70 शहरों में 5700 किलोमीटर का सफर तय किया। इन खेलों का आधिकारिक स्लोगन 'विविधता की चमक' है। दक्षिण कोरिया के इंचियोन शहर ने इन खेलों की मेजबानी दिल्ली को 13 के मुकाबले 32 वोटों से हराकर जीती थी। दक्षिण कोरिया ने सोल में जब पहली बार एशियाई खेलों का आयोजन किया था तब चीन ने उसे मात्र एक स्वर्ण पदक से पीछे छोड़कर पदक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया था। चीन ने उस समय 94 स्वर्ण सहित कुल 222 पदक जीते थे, जबकि दक्षिण कोरिया ने 93 स्वर्ण सहित 224 पदक जीते थे। सोल से पहले दिल्ली में 1982 में हुए एशियाई खेलों में चीन 61 स्वर्ण सहित 153 पदक लेकर चोटी पर रहा था। दिल्ली के बाद चीन एशियाई खेलों में लगातार चोटी पर चलता रहा है और इंचियोन में उसका लक्ष्य लगातार नौंवी बार पदक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल करना होगा। चीन को यदि किसी से नजदीकी चुनौती मिलनी है तो वह मेजबान देश दक्षिण कोरिया है जिसने इन खेलों में चीन को कडी़ चुनौती देने की पूरी तैयारी कर रखी है। मेजबान देश को यह मालूम है कि उसके लिए यह काम आसान नहीं होगा, लेकिन यदि दक्षिण कोरिया अपनी मेजबानी में 100 स्वर्ण का आंकडा़ पार कर जाता है तो यह उसके लिए एक बडी़ उपलव्धि होगी। भारत पिछली बार छठे स्थान पर रहा था और उसके हाथ 14 स्वर्ण लगे थे। कुल पदकों के लिहाज से एशियाड में यह भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन और स्वर्ण पदकों के लिहाज से दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। भारत ने 1951 में अपनी मेजबानी में हुए पहले एशियाई खेलों में 15 स्वर्ण जीते थे। भारत की कोशिश इस बार 15 स्वर्ण का आंकडा़ पार करना और शीर्ष पांच देशों में स्थान बनाना होगी। भारत को इस बार सबसे ज्यादा उम्मीद निशानेबाजी, कबड्डी, मुककेबाजी, कुश्ती, स्कवैश, टेनिस, वुशू, एथलेटिकस, तीरंदाजी, बैडमिंटन, गोल्फ, रोइंग और याचिंग से है। ... |कुछ और भी:




फोटो गैलरी                       More..
     

     

Video                                More..